क्या बुद्धिमान या मेघावी होने का मतलब सिर्फ परीक्षा में अच्छे grades लाना है ?
क्या हम मान लें की जो बच्चा या युवक / युवती academics में मन के लायक perform नहीं कर पाते उनके लिए अपना नाम ऊंचा कर पाना असंभव है ?
नहीं – ऐसा बिलकुल भी नहीं है।

मानव मस्तिष्क और उसकी क्षमताओं पर हुए research ने बताया है की हम सब अलग अलग  तरीके से सोचते, समझते और अपने आप को  express करते हैं । डॉ. हावार्ड गार्डनर ने अपनी  बहुचर्चित Theory of Multiple Intelligences में जो की १९८३ में प्रकाशित हुई , human brain में सात distinct learning abilities की विस्तार से व्याख्या भी की है ।

इस video को देखें और आशावान होकर अपने बच्चे की प्रतिभा को पहचानें; उसके aptitude के अनुसार उसे भविष्य का मार्ग चुनने में मदद करें।

Duration: 8 minutes 43 seconds
Credits: TransParenting Building Relationship
Image Credits: Kidslovetoknow.com

More Resources:

This Youtube channel ‘ TransParenting Building Relationship’ by Pragya Tripathi is to give hope and enthusiasm to parents whose children display inherent skills in other areas of endeavour.  

This space is introduced for Parents and children to strengthen their relationship with Transparency.
Link to channel

0 Shares:
Leave a Reply

Your email address will not be published.

You May Also Like